Xossip

Go Back Xossip > Mirchi> Stories> Hindi > महक का जादू

Reply Free Video Chat with Indian Girls
 
Thread Tools Search this Thread
  #1  
Old 12th September 2012
soundarya85's Avatar
soundarya85 soundarya85 is offline
 
Join Date: 8th September 2012
Location: Pune
Posts: 519
Rep Power: 5 Points: 878
soundarya85 has received several accoladessoundarya85 has received several accoladessoundarya85 has received several accoladessoundarya85 has received several accolades
Send a message via Yahoo to soundarya85
महक का जादू

दोस्तों मैं अपनी सच्ची कहानी बताने जा रही हूँ. अपनी काहानी शेयर करने का यह मेरा पहला अनुभव है. मेरा आपसे अनुरोध है , कृपया मेरी गलतियों को बताये और मेरा मार्गदर्शन करे ताकि मैं अपनी काहानी आपको अच्छी तरह से बता सकू. आप लोगो के सुझाव और हौसला अफजाई की मैं आतुरता से प्रतीक्षा करुँगी.

मेरा नाम महक है, आज मैं २५ साल की हूँ . मैं अपनी इंजीनियरिंग की स्टडी पूरी कर चुकी हूँ.अभी मैं बिज़नस मैनेजमेंट की पढाई कर रही हूँ. मैं और मेरा परिवार एक छोटेसे कसबे में रहते थे. मेरा परिवार बहोत ही छोटा है, जिसमे मेरे पिता, माँ और मेरा छोटा भाई और मैं ये चार ही लोग रहते थे. मेरे दादाजी का देहांत मेरे बचपन में ही हो गया था.

मेरे पिता एक मेहनती किसान है. हमारी फार्म सारे इलाके में जानी पहचानी है. पिताजी एक पढ़े लिखे किसान है जो नए तरीके से खेती करने में विश्वास करते है. मेरी माँ एक मेहनती गृहिणी है, वो घर के साथ साथ खेती के कामो में भी हाथ बाटती हैं . मेरा छोटा भाई मेरे से सिर्फ दो साल छोटा है.

मेरी ये कहानी वहा से शुरू होती है जब मैं 18 साल की थी और मेरा दसवी कक्षा का नतीजा आया था . मुझे पुरे ८५ प्रतिशत मार्क्स मिले थे, माँ पिताजी दोनों बहोत ही खुश थे. मेरे गाँव में १० के बाद पढाई की सुविधा नहीं थी. पिताजी चाहते थे की मैं खूब पढू, बहोत सोच विचार के बाद ये फैसला हुवा की मुझे मामाजी के यहाँ आगे की पढाई के लिए भेजा जाये. मेरे मामाजी शहर में रहते थे. मामाजी के शादी माँ से पहेले हो चुकी थी पर मामाजी अभी तक बेऔलाद थे.
मामाजी और मामिजी दोनों मुझे और मेरे भाई से बेहद प्यार करते थे.
मैं पिताजी के साथ शहर आ गई , मेरे मामाजी का बहोत बड़ा मकान था, और रहने वाले सिर्फ दो लोग.
मामिजी ने कहा "अच्छा हुवा तुम यहाँ आ गई , अब हमारे घर में थोड़ी रौनक आएगी"
मामीजी ने मेरे लए ऊपर वाला कमरा ठीक कर दिया. ताकि मेरी पढाई में कोई डिस्टर्ब ना हो .

Do not post and request ANY Underage materials (especially of children) on Xossip that show minor in sexual / non - sexual act either nude or non-nude. That includes Videos, Full length movies, Pics, Stories, porn etc. Doing so will result in infractions and life bans. See this for more information.

If you have any questions regarding this, please open a new thread in HELP FORUM.

Thanks
sourav
______________________________
सौंदर्या
**************
महक का जादू
http://www.xossip.com/showthread.php?t=1182638
नंदिता (मराठी कथा )
http://www.xossip.com/showthread.php?t=1315883

Last edited by sourav002 : 28th September 2012 at 07:58 PM.

Reply With Quote
  #2  
Old 12th September 2012
ashokafun30's Avatar
ashokafun30 ashokafun30 is offline
Jawani ke maje loot DUDE
 
Join Date: 18th February 2010
Location: delhi
Posts: 12,980
Rep Power: 38 Points: 21065
ashokafun30 is one with the universeashokafun30 is one with the universeashokafun30 is one with the universeashokafun30 is one with the universeashokafun30 is one with the universeashokafun30 is one with the universeashokafun30 is one with the universe
UL: 160.62 mb DL: 522.03 mb Ratio: 0.31
nice start
keep it up
+11 reps added

Reply With Quote
  #3  
Old 12th September 2012
soundarya85's Avatar
soundarya85 soundarya85 is offline
 
Join Date: 8th September 2012
Location: Pune
Posts: 519
Rep Power: 5 Points: 878
soundarya85 has received several accoladessoundarya85 has received several accoladessoundarya85 has received several accoladessoundarya85 has received several accolades
Send a message via Yahoo to soundarya85
शुरुवात में कुछ दिनों तक मुझे घर की बहोत याद आती थी. लेकिन फिर मै ये सोच के खुश होती थी की अगले साल मेरा भैया भी वही आने वाला है.

दोस्तों तब तक मै सेक्स से पूरी तरह से अपरिचित थी. जबकि मुझमे कुछ जिस्मानी तब्दीलिया आनी शुरू हो गई थी, जैसे मेरी छाती के उभार बड़े होने लगे थे, अब ये छोटे संतरे की तरह थे. पर अबतक मै ब्रा नहीं पहेनती थी. मैं अन्दर से समीज पहनती थी. मेरी कांख में भी बाल उगने शुरू हो गए, और वैसे ही बाल मेरी योनी पर भी आने लगे थे.मेरी माहवारी तो पिछले साल ही आना शुरू हुई थी. पर माँ ने इस बारे में जादा कुछ बताया नहीं था.
लेकिन शहर में आने के कुछ दिनों बाद मेरी सेक्स की जानकारी बढ़ने लगी.
मेरी क्लास में जो लडकिया थी उन सबकी छाती मुझसे काफी बड़ी लगती थी. और वो लडकिया काफी फेशनेबल भी थी

उनमे से एक लड़की थी रिया जो की मेरे घर से थोडा पास ही रहती थी, उससे मेरी अच्छी दोस्ती हो गयी. रिया मेरे घर पढाई करने आने लगी, कभी कभार मै उसके घर जाती थी .
एक दिन जब रिया मेरे घर आई थी, हम उपरवाले कमरे में पढाई करने बैठे थे, मै कुर्सी पर और रिया टेबल से टिक कर बैठे थे . अचानक मैं उठ के
खड़ी हो गयी, और उसी समय रिया भी सीधी होने जा रही थी, परिणामवश हम दोनोभी जोरोसे टकरा गई. मेरी कोहनी रियाकी छाती से जा टकराई ...
रिया : उई माँ ........ मर गई .....
मै: सॉरी रिया .... बहोत लगा क्या रे
रिया छाती से हाथ लगाये बैठ गई मैंने उसे फिर पूछा "बहोत दर्द हो रहा है क्या? और मैंने उसकी छाती पर हाथ रखा,
रिया ने पटक से मेरा हाथ अपने सिने पे दबाते हूए लाबी साँसे लेना शुरू किया . मैंने सोचा की मालिश करने से उसे कुछ राहत मिलेंगी इसलिए मैंने धीरेसे उसकी छाती को मसलना शुरू किया
______________________________
सौंदर्या
**************
महक का जादू
http://www.xossip.com/showthread.php?t=1182638
नंदिता (मराठी कथा )
http://www.xossip.com/showthread.php?t=1315883

Reply With Quote
  #4  
Old 12th September 2012
soundarya85's Avatar
soundarya85 soundarya85 is offline
 
Join Date: 8th September 2012
Location: Pune
Posts: 519
Rep Power: 5 Points: 878
soundarya85 has received several accoladessoundarya85 has received several accoladessoundarya85 has received several accoladessoundarya85 has received several accolades
Send a message via Yahoo to soundarya85
Thanks Ashokji

I am very lucky that I got first comment from great writer like you...... I will try my best to entertain by my story .....
hope you visit me again
______________________________
सौंदर्या
**************
महक का जादू
http://www.xossip.com/showthread.php?t=1182638
नंदिता (मराठी कथा )
http://www.xossip.com/showthread.php?t=1315883

Reply With Quote
  #5  
Old 12th September 2012
soundarya85's Avatar
soundarya85 soundarya85 is offline
 
Join Date: 8th September 2012
Location: Pune
Posts: 519
Rep Power: 5 Points: 878
soundarya85 has received several accoladessoundarya85 has received several accoladessoundarya85 has received several accoladessoundarya85 has received several accolades
Send a message via Yahoo to soundarya85
अब रिया ने आपनी आँखे बंद करली थी और उसने मेरा दूसरा हाथ पकडके अपने दुसरे स्तन पर रख दिया , और मेरे हथोको उपरसे ही दबाने लगी.
मैंने भी अनजाने में उसके स्तानोका मर्दन करना शुरू किया. थोड़ी देर बाद मैंने रुकना चाहा, तो रिया बोली "प्लीज महक , रुक मत यार ...... और जोरो से दबा .... प्लीज़ " और उसने अपना टॉप थोडा खिसका कर मेरे हाथो को अपनी टॉप के अन्दर खीचा, अन्दर समीज या ब्रा कुछ भी नहीं था, उसकी नंगी छतिया मेरे हाथो में थी . मैं असमंजस में थोड़ी देर रुक गई
रिया फिर बोली " प्लीज़ यार महक ...... दबा इनको .... जोरसे दबा दे इनको "
मैं फिर अपने काम में लग गई (दबाने के ) , दोस्तों अब मुजे भी अजीब सा मजा आने लगा था. रिया तो अपनी आखें बंद करके पूरी मस्ती में झूम रही थी, मैंने महसूस किया की रिया के निप्पल एकदम कड़े होने लगे, उसने आँखे खोली तो उसकी आँखे गुलाबी लगने लगी , उसने एक झटकेसे मुझे अपनी और खीचा और मेरे होटो पे अपने होट रख कर पागलो की तरह चूमने लगी.
मैं कसमसाई, ताकत लगाकर मैंने उसे दूर धकेला
मैं: ये क्या कर रही हो .....
रिया मुझे फिरसे आमने पास खीचते हुए बोली "मेरी जान आजा
मेरी प्यास बुझा दे , मेरे बदन में आग लगी है...... आजा मेरी जान"
मै: "ये क्या पागलो जैसी हरकत कर रही हो रिया ..... छोडो मुझे...." और मैंने उसे जबरदस्ती अपनेसे अलग किया .
रिया: प्लीज यार महक ..... प्लीज .... फिरसे दबा दे ...... देख मैं कैसी जल रही हूँ.... मेरा बदन कैसे ताप रहा है......" इतना कहके उसने मेरा हाथ फिरसे उसकी टॉप के अन्दर डाल दिया.
मैंने महसूस किया की उसका बदन भट्टी की तरह तप रहा था. उसकी आँखे लाल हो गई थी . घबराकर मैं बोली " अरे तेरा बदन तो बहोत ज्यादा गरम लग रहा है.... बुखार आया क्या ?"
रिया : " हा मेरी जान .... ये जवानी का बुखार चढ़ा है मेरेपे .... जल्दी से इसे ठंडा करदे...." और फिरसे वो मेरे हाथो से उसकी छतिया दबाने लगी .
मैं: "रिया रुक मैं मामी से मांग के कुछ मेडिसिन लाती हूँ" मैंने फिरसे अपने आप को छुडाने का असफल प्रयास किया.
रिया मेरे हाथ जबरदस्ती से भिचते हूए बोली " हाय रे मेरी भोली डॉक्टर ..... मेरी मेडिसिन तो तेरे ही पास है "
मैं: " मैं समझी नहीं रिया..... ये तुम क्या बोल रही हो ......."
रिया: " मैं सब समझाती हूँ मेरी भोली महक .... तू बस इनको दबाती जा ......"
मैंने
हथियार डालते हुए उसके स्तनों को दबाना शुरू किया ......
______________________________
सौंदर्या
**************
महक का जादू
http://www.xossip.com/showthread.php?t=1182638
नंदिता (मराठी कथा )
http://www.xossip.com/showthread.php?t=1315883

Reply With Quote
  #6  
Old 12th September 2012
soundarya85's Avatar
soundarya85 soundarya85 is offline
 
Join Date: 8th September 2012
Location: Pune
Posts: 519
Rep Power: 5 Points: 878
soundarya85 has received several accoladessoundarya85 has received several accoladessoundarya85 has received several accoladessoundarya85 has received several accolades
Send a message via Yahoo to soundarya85
मेरे लिए भी ये नया अनुभव था . मुझे कुछ कुछ अच्छा भी लगने लगा था .....रिया ने फिरसे मुझे आपने पास खीचा और मेरे होटोपे चुम्बन जड़ दिया .
रिया: " क्या तुमने अभीतक ऐसा नहीं किया ?"
मैं :"ऐसा यानी ..... मै समझी नहीं "
रिया: " मेरी भोली बन्नो ..... क्या आजतक तुमने किसी को चुम्मा नहीं दिया..... "
मैं: "छि .... गन्दी कही की ......"
रिया ने मुझे थोड़ी देर के लिए अलग किया और वह दरवाजे की तरफ भागी. उसने दरवाजे की कुण्डी अच्छी तरहसे बंद करदी और फिर भाग के मेरे पास आते हुए मुझे जोरसे अपनी बाहों में भीच लिया .मैं उसे देखती ही रही ..... मेरी समझ में कुछ भी नहीं आ रहा था . मैं बोली " ये क्या कर रही हो रिया.... दरवाजा क्यों बंद किया..... क्या हूवा है तुझे "
रिया ने बड़े प्यारसे मेर तरफ देखा और बोली "आज मैं मेरी भोली बन्नो को .... जवानी का अद्भुत खेल समझाने वाली हूँ ."
मैं : "जवानी का अद्भुत खेल ? ये क्या है.."
उसने फिर एक बार अपने होटोसे मेरे होट बंद किये..... और मेरी उभरती हुयी छातियो को अपने हाथोसे भीचना शुरू किया.
जैसे ही रिया के हाथ मेरी छातियोसे लगे .... मैंने एक अजीब सा रोमांच महसूस किया ....एक नशा सा होने लगा था .... रियाने मेरे निचले होट पर अपनी जुबान फिराना शुरू किया .... उसके हाथ अब मेरी टॉप के अन्दर जाने की कोशिश कर रहे थे ..... मुझे थोडा अजीब लगा पर ना जाने क्यों मैंने उसे रोकनेका प्रयास भी नहीं किया.
जल्द ही उसके हाथ मेरी टॉप के अन्दर थे ....... लेकिन उन हाथो की मंझिल कुछ और थी....... उसने फिर थोड़ी मेहनत कर के अपनी मंझिल को पा ही लिया....
उसने मेरी समिज के अन्दर हाथ डालते हुए मेरे नग्न स्तनों को छु लिया....

______________________________
सौंदर्या
**************
महक का जादू
http://www.xossip.com/showthread.php?t=1182638
नंदिता (मराठी कथा )
http://www.xossip.com/showthread.php?t=1315883

Last edited by soundarya85 : 12th September 2012 at 05:38 PM.

Reply With Quote
  #7  
Old 12th September 2012
soundarya85's Avatar
soundarya85 soundarya85 is offline
 
Join Date: 8th September 2012
Location: Pune
Posts: 519
Rep Power: 5 Points: 878
soundarya85 has received several accoladessoundarya85 has received several accoladessoundarya85 has received several accoladessoundarya85 has received several accolades
Send a message via Yahoo to soundarya85
उफ़...... मेरी तो साँस जैसे थम गई...एक पल के लिए मुझे ऐसा लगा की ..... मैं हवा में हूँ .... मैं उड़ रही हूँ.
रियाने मझे जमीं पर उतरने का मौका ही नहीं दिया , और वो मेरे स्तनों को जोरसे दबाने लगी...
दोस्तों मेरी जिन्दगीका पहेला स्तनमर्दन हो रहा था.
एक अजीब सा ...मीठा सा दर्द महसूस कर रही थी मैं..... मैंने आजतक ऐसा कभी अनुभव ही नहीं किया था .
रिया ने तो जैसे मुझे पागल करने की ठान ली थी , उसने मेरे स्तानाग्रो को चुटकी में भर कर उमेठा .....
स्स स्स स्स स्स स्स.. हाय मेरी तो जान ही निकल गई ......
मैं चीखना चाहती थी ....... मगर चीख नहीं सकती थी .... क्योंकि मेरे होट तो रियाने अपने होटोसे बंद किये थे.
पर हुआ ये के मेरा मुह थोडासा खुल गया .......
रियाने इसी मौकेका फायदा लेते हूए अपनी जीभ को मेरे होटोसे अन्दर की और सरका दिया ....
अब उसकी जीभ मैं अपने जीभ से टकराती महसूस कर रही थी .......
मुझे एक अजीबसा मजा आ रहा था ...... मैंने अपने जीभ से रिया की जीभ को धकेलना चाहा.......
मेरी इस कोशिश में मेरी जीभ रिया के मुह में चली गई ........
अब रिया मेरी जीभ को अपने मुह में लेकर चूस रही थी .....

मेरे निप्पल अब पूरी तरहसे कठोर हो गए थे . रिया का दबाना, उमेठना और मेरे होटो को चूसना जारी था और मुझे पूरी तरह से पागल कर रहा था.

न जाने कितनी देर तक हम वैसे ही रहे ...... अचानक रियाने चुम्बन तोडा और अपने हाथ खीच कर अलग खड़ी हो गई .
जैसे उसने मुझे आसमान से उठाकर जमीं पर पटक दिया
______________________________
सौंदर्या
**************
महक का जादू
http://www.xossip.com/showthread.php?t=1182638
नंदिता (मराठी कथा )
http://www.xossip.com/showthread.php?t=1315883

Reply With Quote
  #8  
Old 12th September 2012
soundarya85's Avatar
soundarya85 soundarya85 is offline
 
Join Date: 8th September 2012
Location: Pune
Posts: 519
Rep Power: 5 Points: 878
soundarya85 has received several accoladessoundarya85 has received several accoladessoundarya85 has received several accoladessoundarya85 has received several accolades
Send a message via Yahoo to soundarya85
दोस्तों
इस के बाद की कहानी आप लोगो के ढेर सरे कमेंट्स और सुझावों के बाद ही पोस्ट करुँगी
आप लोगोकी अमूल्य राय की प्रतीक्षा में
आपकी
______________________________
सौंदर्या
**************
महक का जादू
http://www.xossip.com/showthread.php?t=1182638
नंदिता (मराठी कथा )
http://www.xossip.com/showthread.php?t=1315883

Reply With Quote
  #9  
Old 12th September 2012
gautamp gautamp is offline
 
Join Date: 7th July 2006
Location: shimla
Posts: 241
Rep Power: 20 Points: 159
gautamp is beginning to get noticed
UL: 49.09 gb DL: 86.16 gb Ratio: 0.57
good bater bast ab kya bolu

Reply With Quote
  #10  
Old 12th September 2012
kapoor saab's Avatar
kapoor saab kapoor saab is offline
 
Join Date: 6th December 2011
Posts: 206
Rep Power: 7 Points: 155
kapoor saab is beginning to get noticed
good story
but madam
apne exbii ke inbox ko to khali karo..ek mail bhejni hai aapko.

Reply With Quote
Reply Free Video Chat with Indian Girls


Thread Tools Search this Thread
Search this Thread:

Advanced Search

Posting Rules
You may not post new threads
You may not post replies
You may not post attachments
You may not edit your posts

vB code is On
Smilies are On
[IMG] code is On
HTML code is Off
Forum Jump



All times are GMT +5.5. The time now is 07:16 PM.
Page generated in 0.01879 seconds