Xossip

Go Back Xossip > Mirchi> Stories> Hindi > *_*_*_कामुक कथायें - कामजाल__*_*_*

Reply Free Video Chat with Indian Girls
 
Thread Tools Search this Thread
  #71  
Old 7th September 2007
Swingy's Avatar
Swingy Swingy is offline
 
Join Date: 19th May 2006
Posts: 339
Rep Power: 21 Points: 558
Swingy has many secret admirersSwingy has many secret admirers
UL: 1.52 gb DL: 1.96 gb Ratio: 0.77
लाली की मलयाली चूत मेरे लंड की फेन बन चुकी थी . मैं वहीँ chair पे बैठ गया . लाली मेरे तरफ़ Face करके मेरी जंघा पर बैठ गई . मैंने अपने सिकुरे हुए लंड को सावधानी से उसकी चूत में दाल दिया और मैं पीछे की तरफ़ झुक कर बैठ गया . वोह मेरे लंड को अपने चूत मे लिए हुए थी , उसकी one piece skirt कमर के ऊपर थी , उसकी छाती मेरी छाती से सटी हुई थी और उसका चेहरा मेरे चहरे के सामने था और अब वोह धीरे धीरे फिर से फ़ोन से बात कर रही थी .मैंने उसको गले लगाया . और अपनी बाँहों में कास लिया . फिर उसके दोनों चुत्तारों के ऊपर हाथ फेरने लगा और फिर skirt के अन्दर से हाथ को उसकी नंगी पीठ पे रख कर सहलाने लगा . फिर उसकी ब्रा की हूक खोल दी . उसके पुरे कप्रे को उतर कर अलग कर दिया और अपने कप्रे भी निकाल लिए . फिर से उसे गले लगाये उसकी गले को , कंधे को , पीठ को , दोनों चुत्तारों को , दोनों जांघों को , खूब सहलाया . साथ ही साथ उसके दोनों कान को जीभ से चाट चाट कर चूसा . उसके गाल को चूमा .
वोह बिल्कुल एक छोटे बचे की तरह मेरे सीने से चिपकी हुई थी . फिर मैंने उसे अपने सीने से अलग किया और उसके दोनों छोटे छोटे nipples को चूमा और ख़ूब चूसा और साथ में उसकी दोनों बहूं को सहलाता रहा . तब तक उसके phone की बात चीत खत्म हो चुकी थी और वोह मेरे चहरे को हाथों मे लेकर मेरे होंठों को अपने होंठों से किस करने लगी . उसने अपनी जीभ मेरे मुहँ मे दाल दी और फिर मुझसे चिपक गई और अपनी जांघों को मेरे कमर को कस लिया . मैं उसके जीभ को चूसने लगा और साथ में उसके नंगी पीठ को सहला कर उसकी गांड को सहलाने लगा . मैंने अपने हाथों में bottle से उसकी चूत का पानी निकाल कर उसकी गांड पे मलने लगा . क्या कहूं दोस्तों , मैं किस कदर मस्त हो रहा था ऊपर से मैं फ्रेंच किस चल रहा था , छाती पे उसकी चूचियों की गरमी और नरमी कहर ढा रही थी और नीचे उसके चूत की पानी से उसकी गांड की मालिश हो रही थी .

Reply With Quote
  #72  
Old 7th September 2007
Swingy's Avatar
Swingy Swingy is offline
 
Join Date: 19th May 2006
Posts: 339
Rep Power: 21 Points: 558
Swingy has many secret admirersSwingy has many secret admirers
UL: 1.52 gb DL: 1.96 gb Ratio: 0.77
फिर उसने नटखट चेहरा बाना के बोला मुझे सब मालूम है आप मेरा गांड छोड़ना चाहते हैं . मैं पूछा वोह कैसे ? तो बोली simple, चूत तो आप चोद चुके है . मैं बोला sister आप बहोत सेकसी हो इसीलिये आपकी गांड भी चोदना चाहता हूँ . तो बोली , मेरे freind का husband भी उसकी गांड चोदता है पर मेरे husband को यह गन्दा लगता है . मैंने बोला यह बताओ मेरी लाली को गांड चुदवाने में कैसा लगता है ? वोह हँस कर बोली वोह तो doctor के चोदने के बाद पता चला . तभी मैंने अपनी एक अंगुली लाली के गांड मे दाल दी और अंगुली से उसकी गांड चोदने लगा . उसकी गांड मे अंगुली दाल कर मैंने अन्दर ही अन्दर उसकी चूत में खरे लंड को भी दबाने लगा . वोह सिस्कारी भरने लगी और जोर से सीने से चिपक गई . मैंने कहा अब बताओ लाली कैसा लग रहा है double चुदाई . अच्छा ! बोल कर उसने मेरे गाल पे एक पप्पी दी . मैंने बोला लाली जब तुम मेरे लंड को अपने गांड मे लोगी तो और अच्छा लगेगा ? मेरे लिए तुम doggy position में आओगी ? वोह बोली ठीक है और फिर table पर doggy posture मे आ गई . मैं भी उसके पीछे घुटनों पे table पे उसकी गांड के पीछे आ गया . उसकी पीठ सह्लायी . कमर सह्लायी और कमर के नीचे अपनी दो अंगुली उसकी चूत मे दाल कर अंगुली से उसकी चुदाई करनी शुरू कर दी .

Doctor आप का लंड कहाँ है ? मैंने झट लंड उसके गांड के छेद पे रख कर कहा - लाली अब तुमको मेरा लंड अपने गांड मे लेना है . मुहँ खोल कर लंबा साँस लो और धीरे धीरे गांड को पीछे धक्का देकर लंड को अन्दर ले लो . OK DOCTOR - कह कर उसने धीरे से पुरा लंड अपनी गांड मे ले लिया . अब बिल्कुल बेशरमी से अपने गांड को जैसे चाहो नचाओ - मैंने कहा . फिर वोह बिल्कुल मस्त होकर आँख बंद कर गांड हिलाने लगी और मैं भी लंड को गांड मे डाले हुए धीरे धीरे stroke लगाने लगा .15 minute तक गांड चुदाई चलती रही और साथ में मैंने चूत की अंगुली चुदाई जारी रखी . उसके बाद मैं लाली की गांड में झर गया और वोह मेरे हाथों में पानी छोर दी . उसकी चूत के पानी को हाथ मे लगा कर मैं उसके चहरे पर लगा दिया और उसकी panty को लाली की यादगार बाना कर रख ली . फिर मैं जाकर सो गया . सबेरे उठा तो लंड फिर खरा था .
उठ कर नीचे गया तो उसके जाने का वक्त हो गया था और वोह doctors room के सामने से जा रही थी . मैंने उसे झट अन्दर खीचा , बेड पे पीठ के बल लिटाया . Skirt उठाया और फट अपने खरे लंड को चूत में दाल कर पलना शुरू कर दिया और 5 minute में हम लोग खल्लास हो गए . उसके बाद से कई महिनो तक हम लोग एक दुसरे के साथ मस्ती करते रहे . अक्सर वोह साथ duty वाले दिन पैंटी नहीं पहनती थी और मैं जब मौका मिलता उसके skirt उठाकर उसकी नंगी गांड को कभी सहला कर छोङ देता . कभी चूत में अंगुली दाल देता . कभी गांड में वोह अंगुली दाल लेती . कभी toilet में हम लाली की चूत चोदते तो कभी गांड . कभी जब वोह अकेले दवा देती मरीज को तो हम चैन खोल कर लंड को बहार निकाल लेते और वोह skirt उठा कर चूत मे लंड दाल लेती . बहोत मजे किए मैंने लाली के साथ . कभी वोह मेरे घर आजाती weekend पे और हम लोग खूब चुदाई करते .

Reply With Quote
  #73  
Old 7th September 2007
Swingy's Avatar
Swingy Swingy is offline
 
Join Date: 19th May 2006
Posts: 339
Rep Power: 21 Points: 558
Swingy has many secret admirersSwingy has many secret admirers
UL: 1.52 gb DL: 1.96 gb Ratio: 0.77
दोस्तों,

यह कहानी आपको कैसे लगी ज़रुर लिखयेगा !!
आपके जवाब मुझे और कहानियाँ ले कर आने के लिए प्रेरित करते हैं !!

आपका दोस्त,
स्विंगी

Reply With Quote
  #74  
Old 7th September 2007
chudakkar's Avatar
chudakkar chudakkar is offline
 
Join Date: 28th September 2006
Posts: 56
Rep Power: 20 Points: 40
chudakkar is an unknown quantity at this point
bahut achhi kahaniyan likhte ho bhai. kisi ladki ki gadhey se chudai ki kahani likho.

Reply With Quote
  #75  
Old 8th September 2007
Swingy's Avatar
Swingy Swingy is offline
 
Join Date: 19th May 2006
Posts: 339
Rep Power: 21 Points: 558
Swingy has many secret admirersSwingy has many secret admirers
UL: 1.52 gb DL: 1.96 gb Ratio: 0.77
Quote:
Originally Posted by chudakkar View Post
bahut achhi kahaniyan likhte ho bhai. kisi ladki ki gadhey se chudai ki kahani likho.

आदरणीय, चुदक्रड जी ,
आपकी फ़र्माईएश पर मेरी अगली कहानी मैं - गधे के लॅंड का विस्तृत विवरण तो है , पर किसी बाला और गधे की धक्कम पेली भी मैं जल्द प्रस्तुत करूँगा
धन्यवाद - स्विंगी |

Reply With Quote
  #76  
Old 8th September 2007
Swingy's Avatar
Swingy Swingy is offline
 
Join Date: 19th May 2006
Posts: 339
Rep Power: 21 Points: 558
Swingy has many secret admirersSwingy has many secret admirers
UL: 1.52 gb DL: 1.96 gb Ratio: 0.77
दोस्तों,
बहनों की अदला बदली - भाग 1 कहानी जो मैने http://www.xossip.com/showthread.php?t=184397&page=2 मे आपके समक्ष प्रस्तुत की थी , की अपार सफलता के बाद अब
आप सब के लिए प्रस्तुत है " बहनो की अदला - बदली " - भाग 2 !!

कृपया इसका मज़ा उठाएं , और मेरी हौसला अफ़ज़ाई करें -

" हो कहानियों का साथ - तो भाई अपना हाथ जगन्नाथ !!! " - लगे रहो भाई - लगे रहो !! "

धन्यवाद - स्विंगी |

Last edited by Swingy : 8th September 2007 at 12:16 AM.

Reply With Quote
  #77  
Old 8th September 2007
Swingy's Avatar
Swingy Swingy is offline
 
Join Date: 19th May 2006
Posts: 339
Rep Power: 21 Points: 558
Swingy has many secret admirersSwingy has many secret admirers
UL: 1.52 gb DL: 1.96 gb Ratio: 0.77
Quote:
यश और समीर दोस्त हें. यश अपनी बहन नेहा के साथ समीर के गाँव गया है वहाँ समीर की छोटी बहन पूर्वी उन से मिलती है
समीर पद्मा नाम की नौकरानी को अक्सर चोद ता आया है यश भी पद्मा को चोद ना चाहता है
दीवाली के दिन होने से समीर की माताज़ी ने महेमान घर की सफ़ाई का काम निकाला है महेमान घर गाँव से बाहर है नेहा और पूर्वी पद्मा के साथ वहाँ गयी है
समीर और यश महेमान घर जा पहुँच ते हें और नेहा और पूर्वी को चाय नाश्ता लेने बड़े घर भेज देते हें. पद्मा अकेली रह जाती है दोनो दोस्त एक साथ पद्मा को चोद ते हें.
चुदाई चालू है आगे पढ़ी ये --------


समीर पद्मा के सर के पास बैठ गया और अपना लंड उस के मुँह में धर दिया. पद्मा को अपना मुँह पूरा खोलना पड़ा समीर का मोटा लंड अंदर लेने के लिए इधर मैने उस की जांघें फैला के लंड भोस पैर टीका दिया और एक धक्के से सारा का सारा लंड चूत में घुसेड दिया. उधर अपने हिप्स हिला कर समीर पद्मा का मुँह चोदने लगा तो मैं धीरे धक्के से उस की टाइट चूत चोदने लगा. पद्मा के मुँह से उन न न न न आवाज़ आने लगी और उस के चुतड घूम ने लगे. थोड़ी ही देर में उस की चूत ने फटाके मार ने शुरू किया. मैने लंड को पूरा बाहर निकल कर क्लैटोरिस पैर रगडा. अचानक पद्मा का बदन आकड़ गया और रोएँ खड़े हो गये मैने झट से लंड चूत में डाला और तेज़ रफ़्तार से चोदने लगा. पद्मा की चूत ने सिकूड कर मेरा लंड नीचोड़ लिया. जब उस का ओर्गेझम शांत हुआ तब हमने लंड निकाले. दोनो लंड कड़े ही थे क्यूं की हम में से कोई झरा नहीं था.
पद्मा बोली : हाय दईया, ऐसी चुदाई तो कभी नहीं करवाई.

Reply With Quote
  #78  
Old 8th September 2007
Swingy's Avatar
Swingy Swingy is offline
 
Join Date: 19th May 2006
Posts: 339
Rep Power: 21 Points: 558
Swingy has many secret admirersSwingy has many secret admirers
UL: 1.52 gb DL: 1.96 gb Ratio: 0.77
हम दोनो ने कॉन्डोम लगाए. में पलंग पर लेट गया. समीर ने पद्मा को मेरी जांघों पैर बिठाया. मैने लंड सीधा पकड़ रक्खा. पद्मा ने लंड के मत्थे पैर चूत टिकाई. जैसे उस ने नितंब गिराए मेरा लंड स र र र कर ता चूत में घुस ने लगा. जब मोन्स से मोन्स टकराई तब मूल तक का लंड चूत में पैठ गया था.
समीर ने कहा: यश, अभी ज़रा रुकना, धक्के मत देना. पद्मा, तू आगे झुक और गांड अध्धर कर.
मैं देख नहीं पता था लेकिन पद्मा के कराह ने की आवाज़ से समझ गया की समीर उस की गांड में लंड डाल रहा था. जब पूरा लंड डाला गया तब समीर पद्मा की पीठ पैर झुका और बोला : यश, में गांड मार रहा हूँ और पद्मा भी हिप्स हिलाएगी वैसे ही तेरा लंड चूत में आता जाता रहेगा तुझे धक्के लगाने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी.

समीर उपर से पद्मा की गांड मार ने लगा. उस के धक्के से पद्मा के नितंब आगे पछे हिलते थे. बिना कुछ किए मेरा लंड चूत में आता जाता था. जब पद्मा गांड सिकॉड़ती थी तब साथ साथ चूत भी सिकुड़ती थी और मेरा लंड दब जाता था. समीर ने शुरुआत धीरे धक्के से की थी लेकिन पद्मा की उत्तेजना तेज़ी से बढ़ाने लगी समीर ने धक्के की रफ़्तार बधाई.

पीछे से हाथ डाल कर समीर ने पद्मा के स्तन थाम लिए थे. मैं उस का मुँह चूम रहा था. मैने एक हाथ हमारे बदन बीच से भोस पैर लगा दिया. पद्मा की सारी भोस गीली हो गयी थी. जैसे मैने उस क कड़ी क्लैटोरिस को छुआ वैसे उस को ओर्गाझम हो गया. हम ने धक्के लगाने रोक लिए

ओर्गाझम के फटाके शांत हुए तब समीर ने कहा : पद्मा, प्यारी, तू कहे तो हम दोनो जगह बदल कर चुदाई करें ? पद्मा मुँह से बोली नहीं, छूट सिकोड कर जवाब दिया.


हमने जगह की अदला बदली की. गांड मारने का ये मेरा पहेला अनुभव था. चूत के बजाय गांड इतनी टाइट होती है वो मेने पहेली बार जाना.
गांड में लंड डाल ने की तकनीक अलग है जो मुझे समीर ने सिखाई. जब मेरा लंड पद्मा की गांड में पूरा बैठ गया तब समीर ने मुझे फिर चित लेटाया. अपनी गांड में मेरा लंड लिए पद्मा उपर आ गयी उस ने जांघे चौड़ी कर दी. समीर उपर चड गया. एक ही धक्के से उस ने अपना लंड चूत में घुसेड दिया. पाँच सात धक्के मार कर वो रुक गया और बोला : यश,अब तेरी बारी. तू धक्के लगाएगा तब मैं स्थिर रहूँगा.

मैने धीरे धक्के से गांड मार नी शूर की. दोस्तो, चूत और गांड में बहुत फ़र्क है उसे चोदने का आनंद भी अलग अलग है हाथ की मुट्ठि में पकड़ा हो वैसे पद्मा की गांड ने मेरा लंड पकड़ा था, मानो की वो गांड से मूठ मार रही थी. जब वो चूत सिकॉड़ती थी तब उस की गांड भी सिकूड जाती थी और लंड ओर ज़ोर से भिंस जाता था. लंड में इतनी गुड़गूदी होती थी की वहाँ से निकल कर सारे बदन में फैल जाती थी.

थोड़ी देर बाद मैने और समीर ने एक साथ धक्के लगाने शुरू किए. मैं अब पूरी ताक़त से पद्मा की गांड मार ने लगा. समीर भी ऐसे ही उस की चूत मार ने लगा. दुसरी दस मिनिट तक चुदाई चली तब पद्मा बोली : मैं तीन बार झर चुकी हूँ अब तो बस कीजिए.

हम दोनो ने तेज़ी से धक्के लगाए और एक साथ झरे. पद्मा भी एक बार ओर झरी.. लंड निकाल कर हम उतरे.

थकि हुई पद्मा थोड़ी देर पड़ी रही, बाद में उठ कर बाथरूम में चली गयी हम ने भी सफ़ाई की और कपड़े पहन लिया. आगोश में ले कर समीर ने पद्मा को किस किया और पूछा : तुझे लगा तो नहीं ना ? मझा आया ?
वो बोली : बहुत मज़ा आया
समीर : कैसा लगा मेरे दोस्त का लंड ? फिर से चुदवायेगी?

धत्त कह के पद्मा ने हलकी छपत लगाई और अपने आप को छुड़ा कर भाग गयी

Reply With Quote
  #79  
Old 8th September 2007
Swingy's Avatar
Swingy Swingy is offline
 
Join Date: 19th May 2006
Posts: 339
Rep Power: 21 Points: 558
Swingy has many secret admirersSwingy has many secret admirers
UL: 1.52 gb DL: 1.96 gb Ratio: 0.77
पद्मा के जाने के बाद हम अगले कमरे में गये वहाँ पूर्वी और नेहा चाय नाश्ता साथ हमारी राह देख रही थी. हमें देख वो खिल खिल हस ने लगी समीर ने पूछा : कब की आई हो तुम ? और ऐसे हस क्यूं रही हो ?
एक दूजे की ओर देख कर वो दोनो फ़र्से हस ने लगी
मैं : चाय लाई हो या नहीं ?
जवाब में नेहा ने चाय नाश्ता लगाया. हम चारों ने नाश्ता किया. बाद मे बातें चली.

नेहा : समीर भैया, पूर्वी कहती है की आप दोनो को दूध पीना चाहिए.
समीर :क्यूं भला ?
अपने मुँह पैर हाथ रख कर पूर्वी हसती हुई बोली : इतना जो दूध अभी आप ने निकाल दिया वो दूध पी ने से नया बन जाएगा.
नेहा : पूर्वी, भैया ने जो निकाला वो दूध कहाँ था ? क्रिम था क्रिम, दूध इतना घट्ट कहाँ होता है ?


थोड़ी देर समीर सोच में पड़ गया. बोला : कितना क्रिम निकाला ये तुम्हे कैसे मालूम ?
उन दोनो की हसी बढ़ गयी
समीर : समझा, अब मैं समझा. तुम दोनो ने हमारी चुदाई देख ली है सही ना ? पूर्वी ?
पूर्वी शर्म से हम से नज़र नहीं मिला सकती थी. बोले बिना उस ने हा कही.
समीर : यश, इन दोनो ने हमारी चुदाई देख ली है क्या करेंगे उन का ?
पूर्वी : दूध ले आ उन ?
पूर्वी ज़ोर से हस पड़ी.
समीर : नेहा, दूध की ज़रूरत नहीं है जहाँ क्रिम बनता है वो फेक्टरी ओवर टाइम काम करती है अभी काफ़ी क्रिम पड़ा है चाहिए तुझे ?

नेहा ने अपना चहेरा ढक दिया. आश्चर्य से पूर्वी की आँखें फट गयी वो बोली : मैने कहा था ना ? समीर भैया को मत उकसाना ? सुन लिया जवाब ?
मैं : मेरे पास भी काफ़ी क्रिम है किस को चाहिए ?

लड़कियों के मुँह से सेक्स की बातें सुन कर हमारे लौड़े खड़े होने लगे थे. उन दोनो की नज़रें बार बार उस तरफ़ जाती थी. दोनो के चहेरे लाल लाल हो गये थे.

मैं बनावती मुँह लंबा कर के बोला : समीर ये तो बुरा हुआ. नेहा तो कँवारी नहीं है उस के लिए चुदाई नयी चीज़ नहीं है लेकिन पूर्वी ?

अब की बारी थी समीर की खड़ खड़ हस ने की. वो बोला : पूर्वी, तू कँवारी हो ?
पूर्वी नज़र नीची कर बोली : ऐसे भी क्या पूछ रहे हें भैया ? आप जानते तो हें.

ज़ाहिर हुआ की पूर्वी को भी किसी ने चोदा था. मैं मन ही मन ख़ुश हुआ की चलो इस लड़की को चोद ना आसान होगा. मैने प्रार्थना की हे भगवान एक मौक़ा दे दे मुझे इस कुड़ी को चोद ने का.

समीर : नेहा, ये बता की तुझे किस ने चोदा पहली बार
पूर्वी ने मेरी ओर इशारा कर दिया. समीर बोला : अच्छा तो ये है बहन चोद. कहाँ और कब ?
नेहा : मंजुला भाभी के घर उसी वक़्त.
समीर : उसी वक़्त ? वाह रे मेरे शेर, तूने दो दो चूत मार दी एक साथ. लेकिन बदमाश, तू तो कहता था की तूने अकेली भाभी को चोदा था.
मैं : मैं क्या करता ? मुझे भाभी को चोद ते देख नेहा गरम हो गयी और ---
समीर : -----और तूने उसे भी चोद लिया. शाबाश.
मैं : बात ये है की -----बता उन नेहा?
नेहा ने हा कही.
मैं : बात ये है की बचपन से ही नेहा जल्दी गरम हो जाती है मैने तो तब जाना जब एक दिन ------

एक दिन नेहा के घर कुछ मेहमान आए टांगा लिए जैसे टांगा रुका, घोड़े ने अपना दो फूट लंबा लंड निकाला और पीसाब किया. यश और नेहा वहाँ मौजूद थे. बारह साल की नेहा घोड़े का लंड देख उत्तेजित हो ने लगी उस की पीकी गीली हो गयी वो अपनी पीकी खुजाल ने लगी रात को जब माताज़ी और पिताजी सो गये तब वो यश के पास जा कर बोली : भैया, मेरी पीकी तो देखो, कितनी सूज गयी है और गीली भी हो गयी है
यश ने उस दिन पहली बार अपनी बहन की भोस देखी. नेहा थी बारह साल की लेकिन उस के बदन में जवानी खिल रही थी. सीने पैर बड़े नींबू की साइज़ के स्तन उभर आए थे. भोस पैर आच्छे काले झांट उग निकले थे.
यश को मालूम था क्या करना. नेहा को लेटा कर उस ने उगालियों से भोस सहलाई और क्लैटोरिस मसली. नेहा बोली : भैया बहुत गुदगुदी होती है
दो पाँच मिनिट में नेहा को ओर्गेझम हो गया. इस के बाद बैठ कर यश ने उसे समझाया की लंड क्या है चूत क्या है चुदाई क्या है वग़ैरह. -----


मैं : याद है नेहा तेरा वो पहला ओर्गेझम ?
समीर : बारह साल की उमर से ओर्गेझम का मझा लेती हो तुम ?
नेहा : शुरू शुरू में इतने ज़ोरदार नहीं होते थे.
समीर : अब कैसे होते हें ?
नेहा : मैं क्या कहूँ ? आप ही देख लीजिए ना.
समीर ख़ुश हो गया. उस के लंड ने पाजामा का तंबू बना दिया.
समीर : पूर्वी तो लंबे अरसे तक बेख़बर रही थी, क्यूं पूर्वी ?
मैं : आख़िर किस ने ग्यान करवाया ?
समीर : एक बार ऐसा हुआ की -------

Reply With Quote
  #80  
Old 8th September 2007
gcoolprompt gcoolprompt is offline
 
Join Date: 23rd June 2007
Posts: 7
Rep Power: 0 Points: 1
gcoolprompt is an unknown quantity at this point
kafi achhi hai.........lage raho......aur bhejte raho...

Reply With Quote
Reply Free Video Chat with Indian Girls


Thread Tools Search this Thread
Search this Thread:

Advanced Search

Posting Rules
You may not post new threads
You may not post replies
You may not post attachments
You may not edit your posts

vB code is On
Smilies are On
[IMG] code is On
HTML code is Off
Forum Jump



All times are GMT +5.5. The time now is 07:10 PM.
Page generated in 0.01833 seconds